Description

नोटबंदी हो या दंगे, किसी की भी पटकथा लिखती हैं फेक खबरें

ये पहला मौका नहीं है जब फेक न्यूज ने लोगों की आम जिंदगी को सीधे तौर पर प्रभावित किया हो। चाहे नोटबंदी हो या फिर किसी इलाके में दंगा भड़कना हो। सबके पीछे फेक न्यूज का हाथ मिलेगा। आपको याद होगा कि कुछ दिन पहले हुई नोटबंदी में खबर आई थी कि 2000 के जारी नोटों में चिप या सैंसर लगे हुए हैं।

More Details

Total Views:13
Reference Id:#20

Comments

Copyright © 2019 |   All Rights Reserved |   www.adsforescorts.com |   24x7 support |   Email us : info[at]yourdomain.com